Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Monday, 24 June 2013

UPTET 2013 : दो प्रतियों में लाना होगा प्रवेशपत्र (Need to bring two set of Admit card)

प्रवेशपत्र की जमा करनी होगी छायाप्रति

टीईटी में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को प्रवेशपत्र की छायाप्रति कक्ष निरीक्षक के पास जमा करनी होगी। छायाप्रति जमा करने पर ही कक्ष निरीक्षक उत्तर पत्रक अभ्यर्थियों को देंगे
टीईटी की शर्तों में उलझे अभ्यर्थी

शिक्षक पात्रता परीक्षा अभ्यर्थियों के लिए भूल भुलैया बनकर रह गई है। सरकारी निर्णय से बीएड करने वालों की उलझनें लगातार बढ़ती जा रही हैं। इस बार टीईटी परीक्षा में शामिल होने की शर्तें इतनी कठिन कर दी हैं कि अभ्यर्थी उनमें उलझकर रह गए हैं। इन नियमों के तहत बड़ी संख्या में अभ्यर्थी परीक्षा नहीं दे पाएंगे।
27 और 28 जून को शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन होना है। जिसमें पूर्व बड़ी संख्या में अभ्यर्थियों के आवेदन निरस्त कर दिए गए है। निरस्त करने के कारणों की लंबी सूची जारी की गई है। जबकि आवेदन के विज्ञापन में योग्यता संबंधी शर्तें नहीं दी गई थी। आवेदन के लिए सामान्य वर्ग से 500 रुपये फीस ली गई। अब लगाई गई शर्तों के आधार पर परीक्षा में शामिल होने की पात्रता निरस्त से आवेदकों ने रोष है। अधिकांश अभ्यर्थियों का कहना है कि पहले शर्तें दर्शायी गई होती तो आवेदन ही नहीं करते। जिन आवेदकों का आवेदन निरस्त हुआ है उन्हें कोई राहत भी मिलने नहीं जा रही है।

No comments:

Post a Comment