Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Wednesday, 14 October 2015

15 हजार शिक्षकों की भर्ती में निजी कॉलेज से पास बीटीसी को ठेंगा, सचिव, परिषद ने सभी बीएसए को दिए निर्देश-

इलाहाबाद : प्राथमिक स्कूलों में होने जा रही 15 हजार शिक्षकों की भर्ती में निजी बीटीसी कालेजों को ठेंगा दिखा दिया गया है। 2012 बैच के वे अभ्यर्थी जिन्होंने (करीब दस हजार) निजी कालेज से बीटीसी किया उनका आवेदन स्वीकार नहीं होगा। सचिव बेसिक शिक्षा परिषद ने भर्ती के संबंध में सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिया है। बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में 15 हजार शिक्षकों की भर्ती के लिए दिसंबर 2014 में आदेश हुआ था। उस समय बीटीसी, विशिष्ट बीटीसी, उर्दू बीटीसी उत्तीर्ण अभ्यर्थियों से ऑनलाइन आवेदन मांगे गए। दूसरे चरण में केवल डीएड (विशेष शिक्षा) वाले अभ्यर्थियों से आवेदन करने को कहा गया। जबकि तीसरे चरण में उच्च न्यायालय की ओर से पारित आदेश के अनुपालन के लिए अनुवर्ती वर्ष के आधार पर विशिष्ट बीटीसी 2004, 2007 एवं 2008 के उत्तीर्ण अभ्यर्थियों और साथ ही अधिक उम्र के प्रकरण को देखते हुए आवेदन मांगे गए थे। अभ्यर्थी बताते हैं कि तीसरे चरण के लिए जब परिषद की वेबसाइट खोली गई तो उसमें निर्देश साफ स्पष्ट हो रहे थे। ऐसे में निजी कालेज से वर्ष 2012 सत्र में बीटीसी करने वाले अभ्यर्थी पहले आवेदन नहीं कर पाए थे। उनका 19 अगस्त 2015 को परिणाम जारी हुआ तब उन्होंने आवेदन जरूर किया है, लेकिन उस पर विचार होना संभव नहीं लगता। दरअसल डायट से 2012 में ही बीटीसी करने वाले अभ्यर्थियों का परिणाम छह महीने पहले आ गया और निजी कालेजों का परिणाम छह माह बाद आया इससे निजी कालेज वाले हाशिए पर चले गए। सचिव बेसिक शिक्षा परिषद संजय सिन्हा ने बेसिक शिक्षा अधिकारियों को भेजे निर्देश में लिखा भी है कि मदर लिस्ट में तीन चक्रों में आवेदन हुए हैं इसमें शासनादेशों की शर्तो से भिन्न अभ्यर्थियों के आवेदन को निरस्त करते हुए शेष अभ्यर्थियों के एक्सेल डाटा पर मेरिट सूची तैयार की जाए। इस आदेश से निजी कालेज के बीटीसी अभ्यर्थी निराश हैं। बोले, विभाग की लापरवाही से उनके हाथ से मौका जा रहा है। इसमें करीब दस हजार अभ्यर्थी बाहर हो जाएंगे।(Source News Paper)

No comments:

Post a Comment