Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Friday, 7 August 2015

हिन्दी, सामाजिक विज्ञान के शिक्षक पढ़ा रहे गणित, अंग्रेजी -

  • गणित-विज्ञान शिक्षक भर्ती
  • शिक्षकों कीकमी से माध्यमिक स्कूलों मे पढ़ाई ठप
  • जून में शिक्षकों के रिटायर होने के बाद बढ़ गई स्कूलों की परेशानी
इलाहाबाद । प्रदेश के राजकीय एवं सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में विज्ञान-गणित एवं अंग्रेजी के शिक्षकों के पदों पर पिछले छह वर्ष से नियुक्ति एवं चयन प्रक्रिया ठप होने से पढ़ाई ठप है। प्रदेश के अधिकांश स्कूलों में हिन्दी एवं सामाजिक विज्ञान के शिक्षक अंग्रेजी एवं गणित पढ़ा रहे हैं। पहले से शिक्षकों की कमी से परेशान प्रदेश के माध्यमिक विद्यालयों में 30 जून के बाद तो हिन्दी, सामाजिक विज्ञान जैसे अनिवार्य विषयों के शिक्षकों के रिटायर होने के बाद अधिक बढ़ गई है।
ग्रीष्मावकाश के बाद स्कूलों को खुले एक महीने से अधिक का समय बीतने केबाद भी पढ़ाई-लिखाई पटरी पर नहीं आ सकी है। स्कूलों में शिक्षकों की अरसे से भर्ती नहीं होने के कारण कई विषयों की पढ़ाई शुरू नहीं हो सकी है। इसमें सबसे अधिक परेशानी गणित, अंग्रेजी और विज्ञान जैसे प्रमुख विषयों को लेकर है। प्रदेश में सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों के चयन की जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड के जिम्मे है। चयन बोर्ड की ओर से 2011 में विज्ञापित टीजीटी एवं पीजीटी के पदों के लिए अभी तक लिखित परीक्षा नहीं करवाई जा सकी है।
चयन बोर्ड ने 2013-14 में एक बार फिर से टीजीटी-पीजीटी के लगभग सात हजार पदों पर भर्ती की गई, इसके लिए चयन बोर्ड ने जनवरी-फरवरी 2015 में परीक्षा तो करवा ली परंतु अभी तक इसका रिजल्ट घोषित नहीं हो सका है। इतने पदों के खाली होने के बाद प्रदेश भर में माध्यमिक विद्यालयों में सरकार की ओर से शिक्षकों की भर्ती को लेकर सन्नाटा पसरा है। यही हाल राजकीय इंटर कॉलेज एवं राजकीय बालिका इंटर कॉलेजों में भी प्रमुख विषयों गणित, विज्ञान एवं अंग्रेजी के शिक्षकों की कमी बनी है।

No comments:

Post a Comment