Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Monday, 10 August 2015

विशिष्ट आवश्यकता वाले बच्चों की शिक्षा हाईटेक

  • परिजनों को एसएमएस से सूचना
  • रिसोर्स सेंटर होंगे संसाधनयुक्त

फरुखाबाद : विशिष्ट आवश्यकता वाले बच्चों की शिक्षा अब हाईटेक होने जा रही है। समेकित शिक्षा के रिसोर्स सेंटर को आधुनिक उपकरणों आदि से संसाधन युक्त किया जायेगा। मेडिकल असेसमेंट कैंप, मेजरमेंट कैंप उपकरण वितरण आदि की जानकारी परिजनों के मोबाइल पर एसएमएस से दी जाएगी।1चिल्ड्रेन विद स्पेशल नीड (सीडब्लूएसएन) बच्चों के लिए बनाए गए संसाधन केंद्रों को जल्दी ही नये उपकरणों से सुसज्जित करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। 6 से 14 वर्ष के विकलांग बच्चों को यहां ऊंची उड़ान के लिए शिक्षकों द्वारा कुशल और दक्ष बनाया जाएगा। कई बार इन बच्चों की विकलांगता के परीक्षण तथा उपकरण वितरण आदि के शिविर आयोजन की जानकारी नहीं हो पाती है। अब एसएमएस से इसकी सूचना दी जाएगी। तीन से पांच व छह से 14 आयु वर्ग के बच्चों के होने वाले हाउस होल्ड सर्वे में विकलांग बच्चों को भी शामिल किया जाएगा। बच्चों में मानसिक मंदता, दृष्टि बाधित, मूक बधिर, शारीरिक अक्षम, वाणी दोष आदि विकलांगता का प्रकार भी सर्वे में शामिल किया जाएगा। सर्वे में चिह्नित होने वाले विशिष्ट आवश्यकता वाले बच्चों को विद्यालयों में अनिवार्य रूप से नामांकित कराए जाने के निर्देश शासन ने दिए हैं। इनके लिए प्रथक से प्रपत्र भरा जाएगा। बच्चे से संबंधित सम्पूर्ण विवरण के साथ ही परिवार का मोबाइल नंबर भी प्रपत्र में अंकित होगा। इसका डाटा बेस तैयार किया जायेगा। जिला समंवयक समेकित शिक्षा राजेश वर्मा ने बताया कि कोई भी प्रधानाध्यापक विकलांग बच्चे को दाखिले से मना नहीं कर सकेगा। जिले में नियुक्त विशेष शिक्षक विद्यालयों में जाकर इन्हें शिक्षा और प्रशिक्षण देंगे। जिले भर के बच्चों को रिसोर्स सेंटर का लाभ दिया जाएगा। जिला मुख्यालय पर 60-60 विकलांग बच्चों की शिक्षा के लिए एक्सीलरेंट कैंप दस माह के लिए चलाए जायेंगे।

No comments:

Post a Comment