Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Tuesday, 14 July 2015

प्राइमरी स्कूल के बच्चे पिएंगे पराग दूध -

मिड डे मील के तहत हर बच्चे को मिलेगा 200 एमएल दूध
कल से होगी वितरण की शुरुआत


Click here to enlarge image
लखनऊ-प्राथमिक विद्यालयों के बच्चों की सेहत को दुरुस्त करने की कवायद शुरू हो गई है। परिषदीय विद्यालयों के बच्चों को अब भोजन के साथ ही पराग दूध पीने को मिलेगा। बुधवार से राजधानी में इसकी शुरुआत होगी। पहले चरण में 16 हजार बच्चों को दूध वितरित किया जाएगा।राजधानी समेत आसपास के जिलों में दूध और दुग्ध उत्पाद उपलब्ध कराने वाला लखनऊ दुग्ध संघ (पराग) अब बच्चों को भी पौष्टिक दूध का वितरण करेगा। 200 एमएल गोल्ड दूध (फैट युक्त) देने की तैयारी अंतिम दौर में पहुंच चुकी है। सोमवार को पराग महाप्रबंधक और बेसिक शिक्षाधिकारी और मिड डे मील वितरण में लगी संस्थाओं के बीच हुई बैठक में पहले चरण में तीन संस्थाओं के माध्यम से दूध वितरण का निर्णय लिया गया है। दूध पहुंचाने के लिए पराग की ओर से एक सेंट्रल प्वाइंट बनाया जाएगा जहां पराग समय से दूध पहुंचाएगा। वहां से मिड डे मील वितरण करने वाली संस्थाएं दूध ले जाएंगी। 1क्या कहते हैं अधिकारी 1ली सप्ताह में एक दिन बच्चों को दूध देने की तैयारी की जा रही है। हर बुधवार को 200 एमएल दूध देने के लिए पराग के अधिकारियों के साथ बैठक हुई है। 15 जुलाई से इसकी शुरुआत होगी। इससे बच्चों की सेहत में और सुधार होगा। 

No comments:

Post a Comment