Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Wednesday, 10 June 2015

परिषदीय स्कूलों में शुरू होगी बोर्ड परीक्षा -

  • सीबीएसई ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के दिए निर्देश
  • बेसिक शिक्षा परिषद ने सभी बीएसए और मंडलीय सहायक निदेशकों को सौंपी जिम्मेदारी
  • अधूरे रिजल्ट के निस्तारण में जुटा यूपी बोर्ड
  • सीबीएसई स्कूलों के बच्चे करेंगे योग 

Click here to enlarge image
इलाहाबाद : सूबे के परिषदीय स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को अब पांचवीं और आठवीं बोर्ड की परीक्षा पास करनी होगी। बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा ने मंगलवार को फिर से परीक्षा शुरू कराने के आदेश जारी कर दिए। परिषद ने सभी जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों (बीएसए) और मंडलीय सहायक निदेशकों को अनिवार्य रूप से अगले शैक्षिक सत्र से परीक्षा संबंधित आदेश का अनुपालन सुनिश्चित कराने की जिम्मेदारी सौंपी है। प्रदेश में 2011 से शिक्षा का अधिकार कानून (आरटीई) लागू होने के बाद पांचवीं और आठवीं बोर्ड की परीक्षाएं बंद कर दी गई थी। गत दिसंबर में बेसिक शिक्षा मंत्री राम गोविंद चौधरी ने राज्य सलाहकार परिषद की बैठक में फिर से परीक्षा शुरू कराने के निर्देश दिए थे। इसके बाद फिर तीन मार्च को हुई परिषद के कार्य समिति की बैठक में परीक्षा कराने का प्रस्ताव पास किया गया। इसी के तहत फिर से बोर्ड परीक्षा आयोजित कराने आदेश जारी किए गए हैं। बता दें कि बेसिक शिक्षा मंत्री ने राज्य सलाहकार परिषद से कहा था कि प्रदेश के सभी स्कूलों में परीक्षाएं एक ही दिन कराई जाए। अपरिहार्य कारणों से यदि कहीं परीक्षा नहीं हो पाती है तो तारीखें दोबारा निर्धारित की जाएं। उन्होंने कहा था परिषदीय स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए पहले की तरह कक्षा पांच और आठ में परीक्षाएं जरूरी है। इससे बच्चों के साथ अभिभावकों में भी पढ़ाई के प्रति रुझान बढ़ेगा।

No comments:

Post a Comment