Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Thursday, 18 June 2015

अब मिड-डे मील की होगी नियमित जांच -

लखनऊ । स्कूली बच्चों की सेहत का खयाल रखते हुए खाद्य सुरक्षा और औषधि प्रशासन (एफएसडीए) अब मिड डे मील की गुणवत्ता और शुद्धता की नियमित जांच कराएगा। खाद्य सुरक्षा व औषधि प्रशासन आयुक्त प्रवीन कुमार सिंह ने इस संबंध में प्रदेश के सभी जिलों के अभिहीत अधिकारियों को निर्देश दिया है। उन्होेंने मिड डे मील का नमूना नियमित तौर पर लिए जाने के लिए एफएसओ की टीम गठित करने को कहा है।
एफएसडीए टीम नए शैक्षिक सत्र की शुरुआत से विद्यालयों में मिड डे मील और उसे तैयार करने में इस्तेमाल हो रही सामग्री की सैंपलिग करेंगी। निर्देश में कहा गया है कि नामित खाद्य सुरक्षा अधिकारी नमूनों को जांच के लिए लैब भेजा जाना सुनिश्चित करेंगे और हर पखवारे इस संबंध एक रिपोर्ट तैयार कर मुख्यालय को देनी होगी। मिड-डे-मील में घटिया खाद्य सामग्री के इस्तेमाल, तैयार खाने में कीड़े मिलने जैसी तमाम गड़बड़ियों को ध्यान में रखते हुए एफएसडीए आयुक्त ने यह पहल की है।

No comments:

Post a Comment