Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Saturday, 13 June 2015

जिला और ब्लाक स्तर पर भी शिक्षकों का सम्मान एवं पुरस्कार की योजना -

  • शासन स्तर पर किया जा रहा विचार

 इलाहाबाद : बेसिक शिक्षा केक्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य स्तर के बाद अब जिला और ब्लॉक स्तर पर भी सम्मानित करने की तैयारी है। यह संकेत गत दिनों राज्य शैक्षिक प्रबंधन एवं प्रशिक्षण संस्थान (सीमैट) में बेसिक शिक्षकों के सम्मान समारोह में बेसिक शिक्षा सचिव एचएल गुप्ता ने दिए। उल्लेखनीय है कि विभिन्न संगठनों के बैनर तले शिक्षक नेता काफी समय यह पहल किए जाने की मांग करते आ रहे हैं। वर्तमान में केवल प्रदेश स्तर पर बेसिक शिक्षकों को सम्मानित किया जाता है। ऐसे में ब्लॉक और जिले स्तर पर शिक्षकों को सम्मानित कर और बेहतर करने के लिए प्रोत्साहित करने कवायद चल रही है। शिक्षा विभाग के अधिकारियों का मानना है कि इससे शिक्षकों में बेहतर कार्य करने की प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी। हालांकि अभी ब्लॉक और जिला स्तर पर कितने शिक्षकों को सम्मानित किया जाएगा और पुरस्कार की राशि कितनी होगी जैसे अहम बिंदुओं पर निर्णय नहीं हुआ। इसी तरह सम्मानित किए जाने वाले शिक्षकों की पात्रता, चयन प्रक्रिया और अन्य शर्तो पर निर्णय होना बाकी है। कोशिश है कि प्राइमरी और उच्च प्राइमरी दोनो श्रेणी के शिक्षकों को एक ही कार्यक्रम में शामिल किया जाए। उत्तर प्रदेश प्रदेशीय प्राइमरी शिक्षक संघ के अध्यक्ष लल्लन मिश्र के नेतृत्व में शिक्षक कई बार बेसिक शिक्षा मंत्री राम गोविंद चौधरी से मिल चुके हैं। मंत्री ने शिक्षकों कई बार भरोसा भी दिया। इसी आधार पर यह पहल शुरू की गई है।

No comments:

Post a Comment