Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Thursday, 18 June 2015

गणित-विज्ञान शिक्षक भर्ती - 82 अंक वाले आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों को मौका -

  • बेसिक शिक्षा विभाग ने जारी किया शासनादेश 
  • काउंसिलिंग में शामिल होने को लिए जाएंगे आवेदन 

Click here to enlarge image
लखनऊ : परिषदीय जूनियर हाईस्कूलों में गणित और विज्ञान के 29334 शिक्षकों की भर्ती पर लगी अदालती रोक के हटने पर अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) में 82 अंक पाने वाले आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों को इस भर्ती में आवेदन का मौका मिलेगा। इस बारे में बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से शासनादेश जारी कर दिया गया है। न्यूनतम 83 अंक पाने वाले आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों को टीईटी में उत्तीर्ण मानने की पूर्व में लागू व्यवस्था के कारण 82 अंक पाने वाले अभ्यर्थी इस भर्ती में आवेदन से वंचित रह गए थे। सचिव बेसिक शिक्षा एचएल गुप्ता ने बताया कि टीईटी में 82 अंक पाने वाले अभ्यर्थियों को परिषदीय जूनियर हाईस्कूलों में गणित और विज्ञान शिक्षकों की भर्ती के लिए सातवीं काउंसिलिंग में शामिल होने का मौका दिया जाएगा। इसके लिए उनसे आवेदन आमंत्रित किये जाएंगे। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने टीईटी में उत्तीर्ण होने के लिए आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों के 55 प्रतिशत अंक की अनिवार्यता तय की थी। 55 प्रतिशत के हिसाब से 82.5 अंक होते हैं। राज्य सरकार ने आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए टीईटी में उत्तीर्ण होने के लिए 83 अंक पाने की अनिवार्यता रखी थी। आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों ने इसे 82 अंक करने की मांग को लेकर हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। कोर्ट ने इस पर एनसीटीई की संस्तुति मांगने का आदेश दिया था। एनसीटीई ने 10 जनवरी 2014 को आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों को टीईटी में 82 अंक पाने पर उत्तीर्ण करने की सिफारिश की। इस पर राज्य सरकार ने फरवरी 2014 में आयोजित टीईटी में 82 अंक पाने वाले अभ्यर्थियों को उत्तीर्ण घोषित करने का आदेश जारी कर दिया। बाद में कोर्ट के आदेश से सरकार को जून 2013 में आयोजित टीईटी में 82 अंक पाने वाले अभ्यर्थियों को उत्तीर्ण घोषित करना पड़ा था।

No comments:

Post a Comment