Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Monday, 1 June 2015

31 हजार शिक्षा मित्रों को पक्की नौकरी का इंतजार-

  • 50 जिलों में कम पड़ गए शिक्षकों के पद
  • समायोजन के लिए फिर बढ़ेगी अवधि
शासन ने दूसरे चरण में प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले शिक्षा मित्रों को 31 मई तक समायोजित करते हुए सहायक अध्यापक बनाने का आदेश दिया था। यह अवधि पूरी हो गई, लेकिन सभी शिक्षा मित्र समायोजित नहीं हो पाए हैं। यही हाल रहा तो शिक्षा मित्रों के समायोजन में अभी और भी समय लग सकता है। उत्तर प्रदेश दूरस्थ बीटीसी शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार यादव का कहना है कि दूसरे चरण के प्रशिक्षण प्राप्त शिक्षा मित्रों को जून तक अनिवार्य रूप से समायोजित कर दिया जाना चाहिए जिससे वे जुलाई से शिक्षक के रूप में काम करने लगें।
लखनऊ । बीटीसी प्रशिक्षण प्राप्त दूसरे चरण के 91,104 शिक्षा मित्रों को समायोजित करते हुए शिक्षक बनाने के लिए एक-एक पद के लाले पड़ गए हैं। प्रदेश के 50 जिलों में करीब 31,720 शिक्षा मित्र शिक्षक बनने का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन स्थिति यह है कि कम पद होने की वजह से समायोजन में बाधा आ रही है। बेसिक शिक्षा परिषद ने शिक्षा मित्रों को समायोजित करने के लिए उच्च प्राइमरी स्कूलों में प्रधानाध्यापक के पद पर पदोन्नति की रोक हटा ली है। फिर भी अधिक पद खाली नहीं होते दिख रहे हैं। 49 जिलों से मिले आंकड़ों से पता चलता है कि प्रधानाध्यापक के पद पर पदोन्नति के बाद 17,372 पद ही खाली हो पाएंगे।
कहां कितने
शिक्षा मित्र नहीं हो पाए हैं समायोजित
लखीमपुर 2000, उन्नाव 1842, शाहजहांपुर 1803, सीतापुर 1597, सोनभद्र 1521, मिर्जापुर 1433, कानपुर नगर 1256, लखनऊ 1224, इलाहाबाद 1127, हरदोई 1020, वाराणसी 1011, गोंडा 1002, सहारनपुर 955, झांसी 882, बांदा 850, बहराइच 847, आजमगढ़ 802, बलरामपुर 699, कानपुर देहात 681, मुजफ्फरनगर 657, बेरली 602, बदायूं 600, गाजीपुर 579, बुलंदशहर 563, चित्रकूट 493, पीलीभीत 445, ललितपुर 420, अंबेडकर नगर 410, रायबरेली 399, अमेठी 391, महोबा 326, हमीरपुर 319, औरैया 298, फतेहपुर 281, आगरा 258, मथुरा 255, हापुड़ 250, श्रावस्ती 222, गाजियाबाद 219, गौतमबुद्धनगर 200, इटावा 177, सिद्धार्थनगर 157, मऊ 156, बाराबंकी 111, मैनपुरी 111, मेरठ 100, जालौन 90, शामली 59, फीरोजाबाद 12 व कन्नौज 8 हैं।
उच्च प्राइमरी में प्रधानाध्यापक के इतने पद खाली
लखीमपुर 753, उन्नाव 331, शाहजहांपुर 424, सीतापुर 555, सोनभद्र 175, मिर्जापुर 580, कानपुर नगर 541, लखनऊ 398, इलाहाबाद 837, हरदोई 569, वाराणसी 255, गोंडा 372, सहारनपुर 410, झांसी 429, बांदा 191, बहराइच 327, आजमगढ़ 274, बलरामपुर 114, कानपुर देहात 570, मुजफ्फरनगर 389, बेरली 349, बदायूं 519, गाजीपुर 582, बुलंदशहर 421, चित्रकूट 75, पीलीभीत 214, ललितपुर 242, अंबेडकरनगर 339, रायबरेली 383, अमेठी 282, महोबा 138, हमीरपुर 213, औरैया 354, फतेहपुर 374, आगरा 578, मथुरा 187, हापुड़ 100, श्रावस्ती 99, गाजियाबाद 115, इटावा 410, सिद्धार्थनगर 504, मऊ 236, बाराबंकी 667, मैनपुरी 270, मेरठ 350, जालौन 363, शामली 163, फीरोजाबाद 141 व कन्नौज में 210 पद प्रधानाध्यापक के हैं।

No comments:

Post a Comment