Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Thursday, 25 June 2015

30 जून तक स्कूलों में रंगाई-पुताई के निर्देश, स्कूल में बजेगी घंटी और होगी समय सारिणी -

  • गुरुजी के गोल रहने का शासन ने निकाला तोड़
  • स्कूलों में अंकित होंगे शिक्षकों के नंबर

Click here to enlarge image
फरुखाबाद : शिक्षकों की तैनाती के बावजूद विद्या के मंदिर सूने पड़े रहते हैं। पहले तो गुरुजी स्कूल आते ही नहीं, अगर आते भी हैं तो लेटलतीफ। जब चाहा बस निकल गए। जितनी देर विद्यालय रहते उसमें अधिकतर समय पढ़ाने के बजाय आपस में ही बतियाने में मशगूल रहते हैं। ग्रामीणों को पता ही नहीं रहता कि विद्यालय में कितने शिक्षक हैं, कौन आया और कौन नहीं आया। इसका तोड़ शासन ने निकाला है। अब हर विद्यालय के बरामदे में प्रधानाध्यापक कक्ष के बाहर शिक्षकों के नाम, पदनाम व शैक्षिक योग्यता पेंट से अंकित करायी जायेगी। नीचे टोल फ्री नंबर भी लिखा जायेगा। जो शिक्षक नहीं आया, उसकी सूचना टोल फ्री नंबर से ग्रामीण कंट्रोल रूम को देंगे। प्रमुख सचिव एचएल गुप्ता की ओर से इस संबंध में जारी दिशानिर्देश में स्वीकार किया गया कि शिक्षक समय से स्कूल नहीं पहुंचते। मिड डे मील समय पर नहीं मिलता। यूनीफार्म का वितरण भी ठीक से नहीं हुआ। वितरण हुआ भी तो न्यूनतम गुणवत्ता का। पुस्तकें भी समय पर नहीं मिलतीं। इन सब पर रोक के लिये सामाजिक निगरानी तंत्र मजबूत करने को कहा गया है। व्यवस्था कंप्यूटराइज्ड करने व टोल फ्री नंबर प्रारंभ करने के निर्देश दिये गये। जिला मुख्यालय के कंट्रोलरूम में हर समय कर्मचारी बैठेगा। विद्यालयों में लिखे फोन नंबर पर लोग शिक्षकों के न आने व अन्य शिकायतें दर्ज करा सकेंगे। शिकायतों के निस्तारण व कार्रवाई का रिकार्ड अपडेट होगा। स्कूलों में समय सारिणी लगेगी। समय-समय पर घंटी बजेगी। 30 जून तक स्कूलों में रंगाई-पुताई का अभियान चलाने को कहा गया है। बेसिक शिक्षा अधिकारी योगराज सिंह ने बताया कि टोल फ्री नंबर लिया जाएगा, अन्य व्यवस्थाएं की जाएंगी।

No comments:

Post a Comment