Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Thursday, 18 June 2015

23 अगस्त को टीईटी नहीं एनआईसी ने खड़े किए हाथ

लखनऊ। नेशनल इनफार्मेटिक सेंटर (एनआईसी) ने 23 अगस्त को टीईटी कराने से हाथ खड़े कर दिए हैं। एनआईसी ने बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों से कहा है कि टीईटी के लिए ऑनलाइन आवेदन लिया जाना है। जुलाई और अगस्त में उसके पास अधिक काम है इसलिए ऑनलाइन आवेदन ले पाना संभव नहीं है। शासन ने इसके चलते 23 अगस्त को टीईटी कराने का प्रस्ताव टाल दिया है। अब एनआईसी बताएगा कि वह कब आवेदन ले पाएगा। फिर सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकरण से नया प्रस्ताव मांगा जाएगा।
राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) के मुताबिक टीईटी साल में दो बार आयोजित की जा सकती है। बेसिक शिक्षा विभाग ने इस साल 23 अगस्त को टीईटी कराने के लिए परीक्षा नियामक प्राधिकारी से प्रस्ताव मांगा था। बेसिक शिक्षा विभाग ने प्रस्ताव के आधार पर जुलाई में आवेदन लेने के लिए एनआईसी अधिकारियों की बैठक बुलाई थी लेकिन अधिकारियों ने साफ कह दिया कि जुलाई में ऑनलाइन आवेदन नहीं लिये जा सकते।

No comments:

Post a Comment