Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Thursday, 23 April 2015

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों का कहना कि शिक्षामित्रों का प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापक पद पर समायोजन और शिक्षकों की पदोन्नति के लिए पद कम पड़ रहे -

  • बीएसए ने रोया पदों की कमी का रोना
  • शिक्षामित्रों के समायोजन की अवधि बढ़ाने की मांग की

लखनऊ : शिक्षामित्रों के दूसरे बैच के समायोजन में आ रहीं दिक्कतों को दूर करने के लिए गुरुवार को बेसिक शिक्षा निदेशक कार्यालय में बुलायी गई बैठक में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों (बीएसए) ने शिक्षकों के पदों की कमी का रोना रोया। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों का कहना था कि जब शिक्षकों की पदोन्नति के लिए भी पद कम पड़ रहे हैं तो सहायक अध्यापकों प्रोन्नति कैसे की जाए। दूरस्थ शिक्षा के जरिये बीटीसी प्रशिक्षण उत्तीर्ण करने वाले दूसरे बैच के तकरीबन 87000 शिक्षामित्रों का प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापक पद पर समायोजन किया जाना है। निदेशक बेसिक शिक्षा डीबी शर्मा की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में मेरठ, सहारनपुर, वाराणसी, मीरजापुर, लखनऊ, गोरखपुर, झांसी, मुरादाबाद और कानपुर मंडलों के 40 जिलों के बीएसए शामिल हुए। गाजीपुर, लखीमपुर खीरी, उन्नाव, वाराणसी, कानपुर नगर, मीरजापुर, हरदोई, चंदौली, कुशीनगर, सीतापुर, भदोही, कन्नौज, सोनभद्र, मेरठ, गौतम बुद्ध नगर और झांसी के बीएसए ने कहा कि शिक्षामित्रों का समायोजन करने पर जिले में प्राथमिक शिक्षकों के सृजित पद कम पड़ जाएंगे। सभी बीएसए का कहना था कि पिछले साल जब पहले बैच के 58 हजार शिक्षामित्रों का समायोजन किया गया तो नगर क्षेत्र के शिक्षामित्रों को ग्रामीण क्षेत्रों में तैनाती दे दी गई। इससे नगर क्षेत्र में शिक्षकों के पद खाली हो गए जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षकों के पद भर गए। उनका कहना था कि दूसरे बैच के समायोजन में नगरीय इलाकों के शिक्षामित्रों को नगर और ग्रामीण क्षेत्रों के शिक्षामित्रों को देहात में ही तैनाती दी जाए। वहीं पहले बैच में ग्रामीण क्षेत्रों में समायोजित किए गए नगर क्षेत्र के शिक्षामित्रों को वापस नगर क्षेत्र में तैनाती दे दी जाए। इससे नगर क्षेत्र में शिक्षकों की कमी पूरी होगी और ग्रामीण क्षेत्रों में समायोजन के लिए पद मिल सकेंगे। बेसिक शिक्षा निदेशक ने जब नये निर्देशों के तहत तीन साल की सेवा पूरी करने वाले शिक्षकों को पदोन्नत करने के लिए कहा तो कई बीएसए ने बताया कि पदोन्नति तो पद के सापेक्ष होती है लेकिन जब पद ही नहीं रिक्त हैं तो पदोन्नति कैसे करें। बहरहाल निदेशक ने उन्हें 30 अप्रैल तक हर हाल में शिक्षकों की पदोन्नति करने का निर्देश दिया। ज्यादातर बीएसए का कहना था कि 30 अप्रैल तक तय समयावधि में शिक्षामित्रों के दूसरे बैच का समायोजन कर पाना संभव नहीं है। उन्होंने समायोजन के लिए समयावधि को बढ़ाने की मांग की। इस पर निदेशक ने कहा कि इस बारे में शासन से विचार विमर्श कर फैसला किया जाएगा।

No comments:

Post a Comment