Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Tuesday, 28 April 2015

बिना मान्यता कक्षाएं चलाने पर होंगे डिबार -

  • सीबीएसई के सचिव ने मान्यता के लिए आवेदन के बाद कक्षाएं चलाने को कहा
  • स्कूल बिना मान्यता सीबीएसई पैटर्न का बोर्ड टांगकर चला रहे हैं कक्षाएं
इलाहाबाद । शहर के गली-कूचे में कुकुरमुत्ते की तरह खुले स्कूल के प्रबंधन सावधान हो जाएं, सीबीएसई ने स्कूलों को मान्यता लिए बिना कक्षाएं चलाने को लेकर आगाह किया है। बोर्ड के सचिव की ओर से जारी सूचना में कहा गया है कि मान्यता लेने के लिए आवेदन करने के बाद कक्षाएं चलाने वाले स्कूलों के खिलाफ दो वर्ष के लिए डिबार करने की कार्रवाई की जाएगी।
सचिव ने कहा है कि मिडिल क्लास पाठ्यक्रम, माध्यमिक कक्षाओं के प्राविजलन मान्यता एवं माध्यमिक विद्यालयों के उच्च माध्यमिक कक्षाओं की मान्यता के लिए आवेदन के बाद आगे की कक्षाएं चलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी। सूचना में कहा गया है कि सीबीएसई से संबद्ध विद्यालय इस नियम का कड़ाई से पालन करें। बोर्ड ने छात्रों को परेशानी से बचाने के लिए प्रबंधन एवं प्रधानाचार्यों को इस नियम का पालन करने को कहा है। कोई भी स्कूल छठवीं, नौवीं एवं ग्यारहवीं की कक्षाएं बिना मान्यता के नहीं चला सकते हैं।

No comments:

Post a Comment