Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Thursday, 23 April 2015

शिक्षामित्रों का समायोजन समायोजन बना गले की हड्डी -

  • कई जिलों में पदोन्नति के बाद भी कम पड़ रहे शिक्षकों के पद |
  • समस्या का हल ढूंढ़ने को राजधानी में बुलाई सभी बीएसए की बैठक|
  • तीन साल सेवा पूरी करने वाले होंगे पदोन्नत|

लखनऊ : दूरस्थ शिक्षा के जरिये बीटीसी का प्रशिक्षण पूरा करने वाले दूसरे बैच के शिक्षामित्रों का समायोजन बेसिक शिक्षा विभाग के लिए मुसीबत बन गया है। शिक्षकों के सृजित पदों का सही आकलन किए बिना विभाग ने समायोजन की प्रक्रिया शुरू तो कर दी है, लेकिन कई जिलों में पद न होने के कारण दिक्कतें आ रही हैं। समस्या का समाधान खोजने के लिए सचिव बेसिक शिक्षा ने 23 व 24 अप्रैल को सभी जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों की बैठक बुलाई है। शासन ने शिक्षामित्रों के दूसरे बैच का समायोजन 30 अप्रैल तक करने का निर्देश दिया, लेकिन कई जिलों में ऐसा हो पाना मुमकिन नहीं लगता है। वजह यह है कि शिक्षामित्रों का समायोजन करने के लिए कई जिलों में उनकी संख्या की तुलना में उतने सृजित पद ही नहीं हैं। समस्या का हल खोजने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग ने प्राथमिक स्कूलों के शिक्षकों की पदोन्नति कर शिक्षामित्रों के समायोजन का रास्ता निकालने की कोशिश की। इसके लिए पदोन्नति के लिए आवश्यक सेवा की अवधि में शिथिलता दी गई। बावजूद समस्या का हल निकलता नहीं दिखायी दे रहा है। अंबेडकरनगर में तो स्थिति यह है कि शिक्षामित्रों का समायोजन तो दूर बीटीसी/विशिष्ट बीटीसी प्रशिक्षण प्राप्त अभ्यर्थियों के लिए चल रही 15000 शिक्षकों और 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्तियों के लिए ही पद कम पड़ रहे हैं। महाराजगंज में भी शिक्षकों के पदों की कमी शिक्षामित्रों के समायोजन में आड़े आ रही है। हाल के वर्षो में हुए अंतरजनपदीय तबादलों के जरिये दूसरे जिलों से लगभग 2200 शिक्षक राजधानी लखनऊ आ गए। इसकी वजह से लखनऊ में ही सृजित पदों से ज्यादा शिक्षक काम कर रहे हैं। अब शिक्षामित्रों का समायोजन करने में विभागीय अधिकारियों को पसीने छूट रहे हैं। हरदोई में लगभग ढाई हजार शिक्षामित्रों का समायोजन होना है लेकिन चार साल की सेवा पूरी कर चुके शिक्षकों की पदोन्नति के बाद भी लगभग 875 पद ही रिक्त हो रहे हैं। अब तीन साल में शिक्षकों को पदोन्नत करने का फरमान जारी होने के बाद कुछ पद और रिक्त हो जाएंगे लेकिन सभी शिक्षामित्रों का समायोजन हो पाना मुश्किल है। समायोजन को लेकर हाल ही में सीतापुर में शिक्षामित्र हिंसा पर उतारू हो गए थे।

No comments:

Post a Comment