Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Tuesday, 10 March 2015

कोर्ट ने कहा- शिक्षा नीति में बदलाव करे राज्य सरकार

  • बच्चों को अनिवार्य शिक्षा राज्य का दायित्व
  • प्राइवेट कॉलेज कर रहे सरकार का ही काम

इलाहाबाद : इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने एक फैसले में कहा है कि राज्य सरकार की शिक्षा नीति में बदलाव की जरूरत है। छह से 14 वर्ष तक के बच्चों को नि:शुल्क व अनिवार्य शिक्षा देने का दायित्व राज्य सरकार का है। प्राइवेट शिक्षण संस्थान बच्चों को शिक्षा देकर राज्य सरकार का ही काम कर रहे हैं। यह आदेश मुख्य न्यायाधीश डॉ. डीवाई चंद्रचूड तथा न्यायमूर्ति पीकेएस बघेल की खंडपीठ ने परिपूर्णानन्द त्रिपाठी व अन्य सहायक अध्यापकों की विशेष अपील को स्वीकार करते हुए दिया है। है कि समाज के कमजोर तबके के बच्चे ग्रामीण व अर्धशहरी क्षेत्रों में प्राइवेट स्कूलों में शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। शिक्षा प्रशिक्षित शिक्षकों द्वारा दी जानी चाहिए किंतु संसाधनों के अभाव में योग्य शिक्षक नहीं मिल पा रहे हैं। प्राइवेट कॉलेजों के शिक्षकों का हाल भी दयनीय है। ऐसी स्थिति में प्राइवेट स्कूलों के छात्र अच्छी शिक्षा नहीं पा रहे हैं। कोर्ट ने आदेश दिया है कि अनिवार्य शिक्षा कानून-2009 आने के बाद राज्य सरकार की 1989 की शिक्षा नीति में बदलाव किया जाए। ताकि बच्चों को शिक्षा प्रदान करने वाले प्राइवेट कॉलेजों के प्राइमरी सेक्शन को वित्तीय सहायता दी जा सके। कोर्ट ने किसान आदर्श इंटर कॉलेज ठाकुर नगर, गोरखपुर के प्राइमरी सेक्शन को वित्तीय सहायता देने से इंकार करने के राज्य सरकार के 10 जनवरी 2002 के आदेश तथा याचिका खारिज करने के एकलपीठ के आदेश को रद कर दिया। कोर्ट ने राज्य सरकार को नए कानून एवं न्यायिक निर्णयों के आलोक में नई शिक्षा नीति पर पुनर्विचार करने का आदेश दिया है। पीठ ने कहा है कि राज्य सरकार का दायित्व है कि वह बच्चों को नि:शुल्क, अनिवार्य व गुणकारी शिक्षा प्रदान करे।

3 comments:

  1. Court Cases Related News : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती

    Kanpur Dehat 4th Selected cut-off : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    Orai 4th selected cut-off : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - March 11 , 2015

    4th Selected Cut-off अब तक : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News - 11 March 2014

    3rd Cut-off अब तक : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News - 11 March 2014

    Headlines today : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News - 11 March 2015

    एटा 4th Selected cut-off : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    अमरोहा 4th selected cut-off : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    शिक्षकों को अब तीन साल में पदोन्नति : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    5 हजार शिक्षकों की होगी भर्ती : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    ReplyDelete
  2. 87125 शिक्षामित्रों को सहायक अध्यापक पद पर तैनाती के निर्देश : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    वेतन की व्यवस्था हो रही है मन लगाकर पढाओ : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    धांधली की जांच तीन माह में पूरी करने का आदेश : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    टीजीटी-पीजीटी के खाली पदों की घोषणा जल्द : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    शिक्षकों के रिक्त पदों की संख्या पता नहीं : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    नए सत्र में छात्र पंजीकरण करने की कवायद तेज

    सफाई एवं खाद्य निरीक्षक परीक्षा 22 को

    परिषदीय स्कूलों की परीक्षाएं आज से : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    राज्य सरकार अभिभावकों से पूछेगी सरकारी स्कूलों में बच्चों का क्यों नहीं कराते दाखिला

    घर-घर विद्या दीप जलाओ बच्चों को जरूर पढ़ाओ

    बीएड में 1.82 लाख ने किया आवेदन

    ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - 11 March 2015

    4th Selected Cut-off अब तक : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News - 11 March 2014

    Headlines today : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    ReplyDelete
  3. ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - 14 March 2015

    4th Selected Cut-off अब तक : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News - 14 March 2014

    3rd Cut-off अब तक : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News - 14 March 2014

    लखनऊ 4th Selected Cut-off : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    Kannauj 4th Selected cut-off : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    Barabanki 4th Selected cut-off : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    Ambedkar Nagar 4th Selected cut-off : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    प्रशिक्षु शिक्षकों - No salary since Last 2 month

    कुल‬ 800 अंक : प्रशिक्षण के दौरान बनाए जाने वाले अभिलेख

    BTC 2013 Merit : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    तथ्यों को छिपाकर पांचवीं काउंसिलिंग में हिस्सा लिया तो अभ्यर्थन निरस्त

    6,645 शिक्षकों को नियुक्ति 30 अप्रैल तक : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    आरक्षण को लेकर साफ नहीं , मॉडल स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती पर फंसा पेंच

    विशेष आरक्षण की अनदेखी को लेकर अभ्यर्थियों में आक्रोश : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    शिक्षक भर्ती आवेदन में संशोधन का मौका नहीं : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    सोनभद्र 1 या 2 दिन में तृतीय चरण का नियुक्ति पत्र : 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती Latest News

    ReplyDelete