Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Saturday, 6 December 2014

अंग्रेजी माध्यम के परिषदीय स्कूलों में रहेंगे पांच-पांच टीचर -

लखनऊ (ब्यूरो)। नए शैक्षिक सत्र में हर जिले में दो-दो अंग्रेजी माध्यम परिषदीय स्कूलों की स्थापना की दिशा में तेजी से काम चल रहा है। बेसिक शिक्षा मंत्री रामगोविंद चौधरी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में इस संबंध में कई निर्णय लिए गए।
बैठक में तय हुआ अंग्रेजी माध्यम परिषदीय स्कूलों में पांच-पांच टीचर रखे जाएंगे। इन टीचर्स को एससीईआरटी में प्रशिक्षण दिया जाएगा। अंग्रेजी माध्यम स्कूलों के लिए पाठ्यक्रम तैयार करने का जिम्मेदारी भी एससीईआरटी को सौंपी गई है। किताबों की व्यवस्था भी उसी को करनी है। ये काम दो माह में पूरे करने होंगे। बेसिक शिक्षा मंत्री ने कहा कि चिह्नित अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में एक अप्रैल से पढ़ाई शुरू की जाएगी, इसलिए सभी काम निर्धारित समय सीमा में पूरे किए जाएं।
  • परिषदीय स्कूलों का शैक्षिक सत्र एक अप्रैल से
  • पाठ्यक्रम तैयार करने की जिम्मेदारी एससीईआरटी को सौंपी
लखनऊ (ब्यूरो)। माध्यमिक स्कूलों के बाद अब परिषदीय स्कूलों के शैक्षिक सत्र में बदलाव कर दिया गया है। परिषदीय विद्यालयों में शैक्षिक सत्र एक अप्रैल से 31 मार्च तक चलेगा।
  • पिछले दिनों मुख्यमंत्री मोहनलालगंज क्षेत्र के एक विद्यालय में गए तो बच्चे उनके मामूली सवालों का जवाब भी नहीं दे पाए थे। मुख्यमंत्री ने इन स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के निर्देश दिए थे। ऐसा समझा जा रहा है कि परिषदीय स्कूलों को पब्लिक स्कूलों के साथ स्पर्धा में लाने के लिए शैक्षिक सत्र में बदलाव को जरूरी माना गया है। पिछले दिनों माध्यमिक स्कूलों में भी शैक्षिक सत्र का शेड्यूल बदला गया है। परिषदीय स्कूलों के लिए अब जो व्यवस्था बनाई है उसके तहत शैक्षिक सत्र एक अप्रैल से प्रारंभ होकर 31 मार्च तक चलेगा। पहले गर्मी और सर्दियों के मौसम में स्कूल खुलने के समय अलग-अलग रहते थे। अब पूरे साल सवेरे नौ से अपराह्न तीन बजे तक स्कूल चलेंगे। शीतकालीन अवकाश नहीं किया जाएगा। शीत लहर की स्थिति में परिषदीय विद्यालयों में जिलाधिकारी के स्तर से होने होने वाली अवकाश की व्यवस्था लागू रहेगी। ग्रीष्मकालीन अवकाश 21 मई से 30 जून तक रहेगा।
  • सेवानिवृत्ति की अवधि 30 जून ही रहेगी।
  • पूरे साल सवेरे नौ से तीन बजे तक चलेंगे विद्यालय

No comments:

Post a Comment