Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Thursday, 4 December 2014

दस दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट में टीईटी पर हो सकता है अंतिम फैसला -

इलाहाबाद : सुप्रीम कोर्ट में टीईटी को लेकर तीन साल से चल रहा विवाद किनारा लगने वाला है। शैक्षणिक मेरिट उत्थान समिति का दावा है कि दस दिसंबर को प्रकरण की फाइनल सुनवाई की तारीख तय हो गई है। शैक्षणिक मेरिट उत्थान समिति की ओर से दायर याचिका में शैक्षिक आधार पर भर्ती की मांग की गई है और प्रदेश सरकार भी इसी पक्ष में हैं। दूसरी ओर टीईटी मेरिट को ही चयन का आधार बनाया जा रहा है। 26 नवंबर को हुई सुनवाई में समिति के अधिवक्ता राकेश द्विवेदी ने बताया कि टीईटी परीक्षा एनसीटीई के अनुसार केवल पात्रता परीक्षा है। इसका उल्लंघन एनसीटीई के नियमों के विपरीत है। राज्य सरकार ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि यदि चयन प्रक्रिया में कोई कमी है तो उसमें परिवर्तन करना राज्य सरकार का विशेषाधिकार है। इस मामले की अंतिम सुनवाई 10 दिसंबर को होगी। जिसमें एनसीटीई के वकील एवं सॉलिसिटर जनरल को जवाब दाखिल करने के लिए बुलाया गया है। 

No comments:

Post a Comment