Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Thursday, 4 December 2014

बच्चों ने बहाई सुर, संगीत व नृत्य की त्रिवेणी - 03 दिसम्बर को मनाया गया विकलांग दिवस-


  • विकलांगों को मुख्य धारा में लाएं-डीएम
  • विश्व विकलांगता दिवस पर बच्चों ने मनवाया प्रतिभा का लोहा

फर्रुखाबाद। विश्व विकलांगता दिवस पर समेकित शिक्षा की ओर से आयोजित सास्कृतिक एवं खेलकूद कार्यक्रम में जिलाधिकारी महोदय एनकेएस चौहान ने कहा कि विकलांगों को मुख्य धारा से जोड़ने के लिए सभी को आगे आना होगा। यह किसी से कम नहीं हैं।
बुधवार को ब्रह्मदत्त द्विवेदी स्टेडियम फतेहगढ़ में आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ जिलाधिकारी ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर किया। इसके बाद 50 मीटर बालिका वर्ग दौड़ को झंडी दिखाई। विकलांग बच्चों ने सास्कृतिक कार्यक्रम पेश कर साबित किया कि वे किसी से कम नहीं हैं।
इस दौरान जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी योगराज सिंह ने कहा कि विकलांग बच्चे शारीरिक रूप से अक्षम हैं, लेकिन मानसिक रूप से मजबूत हैं। इनको प्यार देने की जरूरत है। सर्व शिक्षा अभियान के सहायक एवं वित्त लेखाधिकारी नीलेश कनौजिया ने कहा कि विशिष्ट आवश्यकता वाले बच्चों की शिक्षा के लिए पूरी कोशिशें हो रही हैं। जिला समन्वयक राजेश वर्मा ने कहा कि विकलांग बच्चे शिक्षा से वंचित नहीं रहेंगे। इनको शिविर के माध्यम से शिक्षा दी जा रही है। ताकि इनको समाज की मुख्य धारा में शामिल किया जा सके। खेलकूद में विजेता विकलांग बच्चों को पुरस्कार दिया गया। जीजीआईसी की कक्षा 12 की छात्रा पूर्णिमा चतुर्वेदी को जिलाधिकारी ने कार्यक्रम का सफल संचालन करने में शाल व प्रतीक चिह्न भेट कर सम्मानित किया।
इस दौरान नगर मजिस्ट्रेट महमूद आलम अंसारी, बीईओ बेगीश गोयल, रिसोर्स टीचर अनुपम शुक्ला, व्यायाम शिक्षक सुधीर कुशवाहा, संजीव कटियार, कामिनी, राजकुमार, आलोक, प्रदीप यादव, रोहितांश, वीरेन्द्र, अखिलेश बाजपेई, राजकुमार, बीना गौतम, रचना मौजूद रहे।
प्रतियोगिताओं के विजेता 
प्रतियोगिताओं में 50 मीटर बालक वर्ग दौड़ में अनुराग, सचिन, अमन, बालिका वर्ग में रीता, प्रांशी, रिचा, 100 मीटर बालक वर्ग में शिवलाल, पुष्पेंद्र, धर्मवीर, बालिका वर्ग में ममता, रीता, पूनम, कुर्सी दौड़ बालक में अरुण कुमार, राघव, राहुल, बालिका वर्ग में प्रांशी, ममता, रीता, चित्रकला संयुक्त में मंतशा, निशा, सुनीता, सुलेख लेखन संयुक्त में पूनम, प्रांशी राजपूत, रीता राजपूत, छू कर पहचानों में मंजू, शिवानी, अम्रता, गायन में फूलन,निर्मला, आफरीन, एकल नृत्य में सूरज, राहुल व देवेश ने क्रमश: प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त किया। जिलाधिकारी एनकेएस चौहान ने जल बचाओ राज्य स्तरीय लखनऊ में हुई प्रतियोगिता में माडर्न पब्लिक स्कूल की कक्षा सात की छात्रा प्रिया ने बाजी मारने पर सम्मानित किया।
ईश्वर ने उन्हें सामान्य लोगों से कम क्षमताएं दीं। सुनने, बोलने, समझने या शारीरिक मजबूती के मामले में। हालात मुश्किल थे। मगर मुश्किल हालातों को जीत लिया इन्होंने। विकलांग दिवस पर हुई जनपदीय प्रतियोगिता में विशिष्ट आवश्यकता वाले बच्चों ने शानदार प्रदर्शन कर औरों जैसी प्रतिभा दिखाई। राष्ट्रीय एकता व सौहार्द को समर्पित बच्चों के सांस्कृतिक कार्यक्रमों में सुर, संगीत और नृत्य की त्रिवेणी बही। जिलाधिकारी ने बच्चों के प्रदर्शन की सराहना कर कृष्ण-सुदामा की प्रस्तुति देने वाले मूक बधिर बच्चों को 1100 रुपये का नकद पुरस्कार दिया। बालक 50 मीटर दौड़ में अनुराग व बालिका में रीता, 100 मीटर बालक में शिवलाल व बालिका में ममता, कुर्सी दौड़ बालक में अरुण व बालिका में प्रांशी, गायन में फूलन व एकल नृत्य में सूरज प्रथम रहे। छूकर पहचानो में मंजू, शिवानी व अम्रता प्रथम, द्वितीय व तृतीय रहीं। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी योगराज सिंह ने सायंकाल सत्र में बच्चों को पुरस्क़ृत किया तो बच्चे खुशी से झूम उठे। सिटी मजिस्ट्रेट एमए अंसारी, जिला समन्वयक राजेश वर्मा, बीईओ महेश कुमार शर्मा, सह समन्वयक प्रदीप यादव, संजीव कटियार व सुधीर कुशवाहा भी मौजूद रहे। 
खेल-खेल में दुनिया जीती 
राजकीय मूक बधिर विद्यालय संकेत में विकलांग दिवस पर बच्चों के उत्साह ने मानों खेल-खेल में दुनिया ही जीत ली। लंबी दौड़ वरिष्ठ वर्ग में बिल्ला ने पहला स्थान पाया। प्रवेश व अरुण द्वितीय रहे। जूनियर में सूरज, उवैज खान व शिवपाल सिंह क्रमश: पहले, दूसरे व तीसरे स्थान पर रहे। बालिका वरिष्ठ में गीता तथा कनिष्ठ में पलक प्रथम रहीं। अजय, पियूष व विपिन कुर्सी दौड़ में प्रथम रहे। प्रधानाचार्य नीरज सक्सेना, अजय मौर्या, अभिनव पटेल भी रहे। पुरस्कार व फल वितरण हुआ। मासूम विकलांग को स्कूल में दाखिला नहीं, स्टेडियम में बेसिक शिक्षा विभाग की रैली के दौरान भोपतपट्टी की एक महिला ने शिकायत की कि उसके विकलांग बच्चे का प्रधानाध्यापक ने दाखिला नहीं किया। स्कूल के वापस कर दिया गया। बीएसए ने कहा कि दाखिला दिलाया जायेगा।स्टेडियम में सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करते बच्चे।  







No comments:

Post a Comment