Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Sunday, 2 November 2014

शत प्रतिशत उपस्थिति सुनिसिचित करे प्रधानाध्यापक - 10 से 12 बजे तक बच्चों को स्कूल लाएंगे शिक्षक

  • बीएसए ने दिए शत प्रतिशत उपस्थिति करने के आदेश
  • निरीक्षण में बच्चे मिलते कम, एमडीएम खाते अधिक
  • अभिभावकों को प्रेरित करेंगे कि वे बच्चों को भेजें स्कूल
फर्रुखाबाद। परिषदीय स्कूलों के शिक्षक अब सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक बच्चों को घर से स्कूल लाएंगे। जो बच्चे स्कूल नहीं आते हैं उनके माता पिता को भेजने के लिए प्रेरित करेंगे। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने एक सप्ताह के अंदर पंजीकरण के अनुसार उपस्थिति शत प्रतिशत करने का आदेश दिया है। उपस्थिति शत प्रतिशत न होने पर फर्जीवाड़ा माना जाएगा। साथ ही शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई होगी।
परिषदीय स्कूलों के निरीक्षण में अधिकारियों को बच्चे कम मिलते हैं। एमडीएम खाने वाले बच्चाें की संख्या अधिक दर्ज रहती है। कथित रूप से एमडीएम खाने वाले बच्चे निरीक्षण में गैरहाजिर मिलते हैं। इससे हाजिरी रजिस्टर और एमडीएम खाने वाले बच्चाें की संख्या में अंतर आ जाता है। छात्र पंजीकरण में फर्जीवाड़ा होने की आशंका के चलते डीएम एनकेएस चौहान ने बच्चों की विद्यालय में शत प्रतिशत उपस्थित कराने के लिए एक सप्ताह तक सघन अभियान चलवाए जाने के निर्देश दिए हैं। इस पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी योगराज सिंह ने बीईओ, सह समन्वयक व न्याय पंचायत समन्वयकों को चेतावनी पत्र जारी किया है। इसमें कहा गया है कि निरीक्षण के दौरान छात्र संख्या कम मिलती है। यह पंजीकरण से काफी कम होती है। इस कारण बच्चों की शत प्रतिशत उपस्थिति के लिए एक सप्ताह तक अभियान चलाया जाएगा। इसके तहत विद्यालय में एक शिक्षक या एक शिक्षा मित्र को छोड़कर अन्य शिक्षक व शिक्षामित्र सुबह 10 से दोपहर 12 बजे गांव में बच्चों के घर जाएं। बच्चों को पढ़ने के लिए विद्यालय लेकर आएं। इसके साथ ही परिजनों को बच्चाें को प्रतिदिन विद्यालय भेजने के लिए प्रेरित करें। ब्लाक, न्यायपंचायत स्तर पर प्रधानाध्यापकों की बैठक बुलाकर दिशा निर्देश दिए जाने का आदेश बीईओ को दिया गया है। एक सप्ताह के इस अभियान में विद्यालय की छात्र छात्राओं की उपस्थित पंजीकरण के अनुसार शत प्रतिशत नहीं हुई तो वहां पंजीकरण में फर्जीवाड़ा समझा जाएगा। इस मामले में प्रधानाध्यापक, न्याय पंचायत समन्वयक व सह समन्यक के खिलाफ सरकारी धन के दुरुपयोग में कार्रवाई की जाएगी।

No comments:

Post a Comment