Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Sunday, 19 October 2014

निजी स्कूलों में गरीब बच्चों के दाखिले का बदलेगा नियम

लखनऊ। गरीब बच्चों को निजी स्कूलों में 25 फीसदी सीटों पर मुफ्त दाखिला दिलाने के लिए एक बार फिर नियम में बदलाव की तैयारी है। इसके लिए पहले अधिकारियों की एक टीम दूसरे राज्यों में जाकर वहां इस संबंध में बनाए गए नियम को देखेगी। टीम यह पता लगाएगी कि दूसरे राज्यों में यह योजना कितनी सफल है। टीमों की रिपोर्ट मिलने के बाद नियम में बदलाव होगा। बेसिक शिक्षा निदेशक डीबी शर्मा ने इसके लिए दो टीमें बनाई हैं। एक टीम दिल्ली और दूसरी मध्य प्रदेश जाएगी।
शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत 6 से 14 वर्ष तक के बच्चों की शिक्षा अनिवार्य कर दी गई है। इसमें निजी स्कूलों में 25 फीसदी सीटों पर गरीब बच्चों को दाखिला दिलाने की व्यवस्था है। इसके एवज में राज्य सरकार निजी स्कूलों को फीस की प्रतिपूर्ति करेगी। उप्र में भी यह योजना लागू है, लेकिन परवान नहीं चढ़ पा रही है। इसलिए अन्य राज्यों की नीति का अध्ययन कराके इसमें संशोधन की योजना है।
बेसिक शिक्षा निदेशक ने दो टीमें बनाई हैं। अपर निदेशक बेसिक शिक्षा रूबी सिंह, कमलेश प्रियदर्शी व बीएसए झांसी राजेश कुमार सिंह की टीम मध्य प्रदेश और उप शिक्षा निदेशक शशि किरण त्रिपाठी, राज्य परियोजना कार्यालय में तैनात विशेषज्ञ राजेंद्र सिंह व बीएसए गाजियाबाद प्रवेश कुमार की टीम दिल्ली जाएगी। वहां से आने के बाद टीम जो रिपोर्ट देगी उसके आधार पर दाखिला संबंधी नियमों में बदलाव किया जाएगा।

No comments:

Post a Comment