Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Wednesday, 17 September 2014

स्कूल ड्रेस का रंग उड़ा तो दर्ज होगी रिपोर्ट

  • 15 अक्टूबर तक वितरित होनी हैं स्कूलों में बच्चों को ड्रेस

संवाद सूत्र, गोसाईगंज: परिषदीय स्कूलों के बच्चों को यूनीफार्म का वितरण 15 अक्टूबर तक किया जाना है। यूनीफार्म वितरण के बाद उसकी गुणवत्ता एक सप्ताह में जांची जाएगी। यूनीफार्म को नमूने के कपड़े से मिलान करने के साथ ही उसकी धुलाई करवा कर देखा जाएगा। अगर बच्चों की वर्दी सैंपल के कपड़े से भिन्न मिलती है, रंग फीका पड़ता है या फिर कपड़ा सिकुड़ता है तो प्रधानाध्यापक एवं विद्यालय प्रबंध समिति अध्यक्ष के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवा कर धन वसूली की जाएगी। मुख्य सचिव आलोक रंजन ने यह आदेश जारी किया है। 1प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों में पढ़ने वाले हर बच्चे को दो सेट यूनीफार्म का वितरण किया जाना है। यूनीफार्म का वितरण 15 सितंबर से लेकर 15 अक्टूबर तक होना है। यूनीफार्म की खरीद केलिए विद्यालय स्तर पर चार सदस्यीय एक क्रय समिति बनाई जाएगी। यूनीफार्म वितरण के एक सप्ताह के अंदर जिला स्तरीय समिति द्वारा गठित टास्क फोर्स अनिवार्य रूप से विद्यालय का निरीक्षण करेगी। समिति इस बात की भी रिपोर्ट देगी कि यूनीफार्म को धुलवा कर देखने के बाद रंग फीका पड़ने या कपड़ा सिकुड़ने की शिकायत तो प्राप्त नहीं हुई है। ऐसा होने या ड्रेस का नकद भुगतान करने की दशा में एफआइआर दर्ज करवा कर क्रय कीमत की वसूली खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा की जाएगी। जिला स्तर पर एक कंट्रोलरूम स्थापित किया जाएगा। जिसमें दर्ज शिकायतों को जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को भेजी जाएगी। बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रवीण मणि त्रिपाठी का कहना है कि शासन स्तर से आदेश मिला है जिसकी अनुपालन किया जाएगा।


No comments:

Post a Comment