Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Monday, 22 September 2014

नियमित होंगे इंटर कॉलेजों के व्यावसायिक शिक्षक

अमर उजाला ब्यूरो लखनऊ। माध्यमिक शिक्षा परिषद के राजकीय व सहायता प्राप्त इंटर कॉलेजों में कार्यरत 1766 अतिथि व्यावसायिक शिक्षकों को नियमित किए जाने का रास्ता साफ हो गया है। माध्यमिक शिक्षा मंत्री महबूब अली ने प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा मनोज कुमार सिंह को शीघ्र ही कैबिनेट के लिए प्रस्ताव देने को कहा है। माध्यमिक शिक्षा मंत्री से सोमवार को सपा विधानपरिषद सदस्य देवेंद्र सिंह के नेतृत्व में व्यावसायिक शिक्षकों का प्रतिनिधिमंडल मिला था।
राजकीय व सहायता प्राप्त इंटर कॉलेजों में छात्र-छात्राओं को व्यावसायिक शिक्षा के लिए 1989 में 2169 अतिथि व्यावसायिक शिक्षकों को रखा गया है। व्यावसायिक शिक्षक 35 ट्रेडों में पढ़ाई करा रहे हैं और इन्हें 10,000 रुपये प्रतिमाह मानदेय मिल रहा है। मुख्यमंत्री ने व्यावसायिक शिक्षकों की मांग पर गत 14 जुलाई को इन शिक्षकों के विनियमितीकरण का प्रस्ताव पेश करने के निर्देश दिए थे। इनके शैक्षिक योग्यता और चयन प्रक्रिया का जब परीक्षण किया गया तो इसमें से 403 शिक्षक अयोग्य पाए गए। शेष 1766 व्यावसायिक शिक्षकों के बारे में माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने शासन को प्रस्ताव भेज रखा है। इसके आधार पर प्रमुख सचिव से कैबिनेट के लिए प्रस्ताव मांगा गया है।

No comments:

Post a Comment