Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Wednesday, 24 September 2014

72,825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - अधिक पद वाले जिलों में काउंसलिंग की मारामारी

  • 72,825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती को काउंसलिंग शुरू
  • सीतापुर, लखीमपुर व गोंडा में पहुंचे सर्वाधिक अभ्यर्थी
लखनऊ। प्राइमरी स्कूलों में 72,825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती के लिए दूसरे चरण की काउंसलिंग शुरू हो गई है। मंगलवार को महिला कला सामान्य वर्ग के लिए काउंसलिंग हुई। सबसे अधिक भीड़ सर्वाधिक पद वाले जिलों सीतापुर, लखीमपुर व गोंडा में रही। काउंसलिंग में दस गुना अभ्यर्थियों को बुलाने से इन जिलों में पद से अधिक अभ्यर्थी पहुंच गए। इस नाते लोगों को परेशानी हुई। हालांकि, एससीईआरटी के निदेशक सर्वेंद्र विक्रम का स्पष्ट निर्देश है कि डायट पर काउंसलिंग के लिए अधिक भीड़ होने पर उसी श्रेणी के अभ्यर्थियों को अगली तिथि पर डायट प्राचार्य बुला सकते हैं।
दूसरी काउंसलिंग 30 सितंबर तक होनी है। सीतापुर व लखीमपुर में सर्वाधिक पद 6000-6000 है। गोंडा में 4000, बहराइच व कुशीनगर में 3600-3600, हरदोई में 3000, शाहजहांपुर में 2800 तथा आजमगढ़ व महाराजगंज में 2500-2500 पद हैं। भर्ती में अभ्यर्थी मौका हाथ से जाने नहीं देना चाहते। इसलिए कई जिलों में नाम आने के बाद भी कम पद वाले जिलों में न जाकर सर्वाधिक पद वाले जिलों में काउंसलिंग को जा रहे हैं।
पहले चरण वाले पसोपेश में
पहले चरण की काउंसलिंग प्रक्रिया 31 अगस्त को समाप्त हो चुकी है। मेरिट में आने वालों की काउंसलिंग के बाद उनके मूल प्रमाणपत्र जमा कराए जा चुके हैं। दूसरी काउंसलिंग में उनका नाम हटा दिया गया है। ऐसे अभ्यर्थी डायटों पर यह पता करने आ रहे हैं कि उनका चयन हो गया है या नहीं।
सरप्लस शिक्षकों-कर्मियों पर नए सिरे से मंथन
माध्यमिक शिक्षा परिषद के सहायता प्राप्त स्कूलों के सरप्लस शिक्षकों और कर्मचारियों पर नए सिरे से मंथन शुरू हो गया है। इसके लिए जिलेवार अधिकारियों को वस्तु स्थिति के साथ बुलाया जा रहा है। बलिया और सीतापुर के कुछ इंटर कॉलेजों के मामलों की सुनवाई करते हुए इसे निस्तारित करने का निर्देश दिया गया है। प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा मनोज कुमार सिंह कहते हैं कि जनशक्ति निर्धारण के नाम पर सरप्लस शिक्षक व कर्मियों के बारे में जिलेवार ब्यौरे के आधार पर सुनवाई की जा रही है। नियमानुसार रखे गए कर्मियों के समायोजन पर विचार हो रहा है।

No comments:

Post a Comment