Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Saturday, 13 September 2014

72,825 शिक्षकों की भर्ती - 45 फीसद वाले भी होंगे काउंसिलिंग में शामिल -बीटेक, बीफार्मा, बीएससी (आइटी), बीएससी (कृषि), बीएससी (गृह विज्ञान) आदि प्रोफेशनल कोर्स विज्ञान वर्ग में शामिल किये जाएंगे

  • इग्नू और राजर्षि टंडन मुक्त विवि से पत्रचार के जरिये बीएड करने वालों को भी मिलेगा मौका
  • सभी डायट प्राचार्यों और बीएसए को दिशानिर्देश जारी

लखनऊ : स्नातक में 45 प्रतिशत अंक हासिल करने वाले अनारक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों और 40 फीसद अंक पाने वाले आरक्षित व विशेष आरक्षित श्रेणियों के अभ्यर्थियों को परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 72,825 शिक्षकों की भर्ती के लिए होने वाली काउंसिलिंग में शामिल किया जाएगा। हाई कोर्ट के आदेश के अनुपालन में इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) और इलाहाबाद के राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय से पत्रचार के जरिये दो साल का बीएड करने वाले अभ्यर्थियों को भी काउंसिलिंग में शामिल किया जाएगा। राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद के निदेशक सर्वेंद्र विक्रम बहादुर सिंह ने सभी जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों (डायट) के प्राचार्यों और जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों (बीएसए) को इस बारे में दिशानिर्देश जारी कर दिया है। परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 72,825 शिक्षकों की भर्ती के लिए 29 से 31 अगस्त तक हुई पहली काउंसिलिंग के दौरान डायट प्राचार्यों द्वारा बतायी गईं समस्याओं और अभ्यर्थियों से मिले प्रत्यावेदनों पर विचार करने के लिए शासन ने सचिव बेसिक शिक्षा परिषद संजय सिन्हा की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय समस्या निवारण समिति गठित की थी। समिति ने बीती 10 सितंबर को बैठक कर अपनी सिफारिशें निदेशक एससीईआरटी को भेजी थीं। निदेशक एससीईआरटी ने डायट प्राचार्यों और सभी बीएसए को इन सिफारिशों के आधार पर आगे की काउंसिलिंग की कार्यवाही करने को कहा है। डायट प्राचार्यों और बीएसए को भेजे गए दिशानिर्देशों में यह स्पष्ट किया गया है कि स्नातक परीक्षा में 45 प्रतिशत से कम अंक पाने वाले अनारक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों और 40 फीसद से कम अंक प्राप्त करने वाले आरक्षित व विशेष आरक्षित श्रेणियों के अभ्यर्थियों को शिक्षक भर्ती के लिए होने वाली काउंसिलिंग में नहीं शामिल किया जाएगा। यह भी कहा गया है कि शिक्षकों की भर्ती में एलटी और सीटी अभ्यर्थियों को शामिल नहीं किया जाए। भर्ती के लिए बीटेक, बीफार्मा, बीएससी (आइटी), बीएससी (कृषि), बीएससी (गृह विज्ञान) आदि प्रोफेशनल कोर्स विज्ञान वर्ग में शामिल किये जाएंगे और बीसीए को इंटरमीडिएट के आधार पर विज्ञान/ कला वर्ग में रखने के लिए कहा गया है। हैदराबाद के उस्मानिया विश्वविद्यालय से 1995 तक एक वर्षीय स्नातक उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को भी चयन के लिए अर्ह माना जाएगा। दिशानिर्देशों के जरिये यह भी स्पष्ट किया गया है कि यदि विकलांग या विशेष आरक्षित श्रेणी के लिए न्यूनतम कट ऑफ मेरिट सामान्य या अन्य पिछड़ा वर्ग या अनुसूचित जाति/ जनजाति से अधिक हो जाए और ऐसा अभ्यर्थी अन्य श्रेणियों के न्यूनतम गुणांक से अधिक अंक प्राप्त कर रहा हो तो उस स्थिति में उसका चयन उसकी जाति से संबंधित श्रेणी में कर लिया जाए।

No comments:

Post a Comment