Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Wednesday, 10 September 2014

फ्री व पेड सीट की दोहरी प्रणाली खत्म - बीटीसी व एनटीटी की सालाना फीस 41 हजार तय

  • फ्री व पेड सीट की दोहरी प्रणाली खत्म

Click here to enlarge image

लखनऊ : शासन ने बीटीसी व नर्सरी टीचर ट्रेनिंग (एनटीटी) का पाठ्यक्रम संचालित करने वाले निजी कॉलेजों में फ्री और पेड सीटों की दोहरी व्यवस्था को समाप्त करते हुए सभी सीटों के लिए समान रूप से 41 हजार रुपये सालाना फीस तय कर दी है। नई व्यवस्था के तहत यह फीस शैक्षिक सत्र 2014-15 से लागू होगी। इस बारे में बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से बुधवार को शासनादेश जारी कर दिया गया है। अभी बीटीसी व एनटीटी संस्थानों में फ्री सीट की सालाना फीस 22 हजार रुपये और पेड सीट की 44 हजार रुपये है। शासनादेश के मुताबिक निर्धारित अवधि में फीस न जमा करने वाले अभ्यर्थी से निजी संस्थान अधिकतम 25 रुपये विलंब शुल्क ले सकेगा। इसके अलावा अभ्यर्थी से 1000 रुपये कॉशनमनी के तौर पर लिया जाएगा। संस्थान को परीक्षाफल घोषित होने के दो दिन के अंदर कॉशनमनी की धनराशि अभ्यर्थी को लौटाकर इस बारे में सचिव, परीक्षा नियामक प्राधिकारी को जानकारी भी देनी होगी। तय समय में कॉशनमनी न वापस करने पर सचिव, परीक्षा नियामक प्राधिकारी द्वारा संस्थान से रोजाना 50 रुपये की दर से अर्थदंड वसूला जाएगा। शासन की ओर से निर्धारित फीस, कॉशनमनी और विलंब शुल्क के अलावा संस्थान अभ्यर्थी से किसी भी और मद में कोई शुल्क नहीं लेगा। सभी संस्थान साल में दो बार सचिव, परीक्षा नियामक प्राधिकारी और निदेशक राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद को शुल्क प्राप्ति और व्यय की स्थिति से अवगत करायेंगे और हर साल चार्टर्ड अकाउंटेंट की ओर से प्रमाणित बैलेंस शीट भी प्रस्तुत करेंगे। सचिव, परीक्षा नियामक प्राधिकारी की यह जिम्मेदारी होगी कि वह प्राप्त अभिलेखों के आधार पर राज्य सरकार को यह आकलन प्रस्तुत करें कि संस्थान लाभ कमाने या व्यावसायिक गतिविधियों में लिप्त नहीं है। निजी बीटीसी व एनटीटी संस्थानों कॉलेजों में प्राचार्य/ विभागाध्यक्ष का मासिक वेतन (भत्ताें सहित) 46200 रुपये, प्रवक्ता का 31020 रुपये, पुस्तकालयाध्यक्ष व अपर डिवीजन क्लर्क का 17600 रुपये और कंप्यूटर ऑपरेटर/स्टोर कीपर का 15620 रुपये तय किया गया है। इसके अलावा एनटीटी संस्थानों में प्रवक्ता स्वास्थ्य एवं शारीरिक शिक्षा का मासिक वेतन 30580 रुपये होगा।

No comments:

Post a Comment