Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Monday, 15 September 2014

सहायता प्राप्त जूनियर हाईस्कूलों में प्रधानाध्यापकों, शिक्षकों और शिक्षणोत्तर कर्मचारियों के लगभग 2500 पदों पर भर्तियों की राह खुली -

जूनियर हाईस्कूलों में शिक्षक बनने के लिए अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थियों के लिए खुशखबरी है। सहायताप्राप्त जूनियर हाईस्कूलों में प्रधानाध्यापकों, शिक्षकों और शिक्षणोत्तर कर्मचारियों के लगभग 2500 पदों पर भर्तियों की राह खुल गई है। सहायताप्राप्त जूनियर हाईस्कूलों में प्रधानाध्यापकों, शिक्षकों और लिपिकों की भर्तियों पर लगा प्रतिबंध हट गया है। इस बारे में बेसिक शिक्षा विभाग ने शासनादेश जारी कर दिया है। शासनादेश जारी होने से सहायताप्राप्त जूनियर हाईस्कूलों में प्रधानाध्यापकों के 800, शिक्षकों के 1444 और लिपिकों के लगभग ढाई सौ रिक्त पदों पर भर्ती का रास्ता साफ हो गया है। इन स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती के लिए अभ्यर्थी का अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) उत्तीर्ण होना अनिवार्य है। वहीं प्रधानाध्याक पद की भर्ती के लिए बतौर शिक्षक पांच साल का अनुभव जरूरी है। चूंकि टीईटी उत्तीर्ण कर पांच साल के अध्यापन का अनुभव रखने वाले अभ्यर्थी अभी उपलब्ध नहीं हैं, इसलिए प्रधानाध्यापक पद के लिए अभ्यर्थी के लिए टीईटी उर्त्तीण होने की अनिवार्यता नहीं है। प्रदेश में तकरीबन 3100 सहायताप्राप्त जूनियर हाईस्कूल हैं। इन स्कूलों के शिक्षकों और शिक्षणोत्तर कर्मचारियों को सरकार वेतन देती है। लंबे समय से इन स्कूलों में भर्तियां नहीं हो पायी हैं जबकि इस दरम्यान शिक्षक और शिक्षणोत्तर कर्मचारी रिटायर होते रहे। इसलिए सहायताप्राप्त जूनियर हाईस्कूलों में स्टाफ खासतौर पर शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों की कमी महसूस की जा रही है। इन स्कूलों के प्रबंधतंत्र द्वारा लगातार शासन से नई नियुक्तियां करने की अनुमति दिये जाने की मांग की जा रही थी। इस पर शासन ने बेसिक शिक्षा निदेशालय से इन स्कूलों में शिक्षक और शिक्षणोत्तर कर्मचारियों के रिक्त पदों का ब्योरा तलब किया था ताकि इन पर भर्ती की जा सके। बेसिक शिक्षा निदेशालय ने शासन को इस बाबत प्रस्ताव भेज कर स्कूलवार रिक्त पदों का ब्योरा उपलब्ध कराया था। 

No comments:

Post a Comment