Breaking News -
बाल अधिकार अधिनियम 2011- बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का शासनादेश स्कूल चलो अभियान- वर्ष 2015 स्कूल चलो अभियान शासनादेश नि:शुल्‍क यूनीफार्म- वर्ष 2015-16 नि:शुल्‍क यूनीफार्म शासनादेश परिषदीय अवकाश- वर्ष 2015 की अवकाश तालिका एवं विद्यालय खुलने की समयसारि‍णी मृतक आश्रित- मृतक आश्रित सेवा नियमावली अध्‍यापक सेवा नियमावली- अध्‍यापक सेवानियमावली 2014 साक्षर भारत मिशन- समन्‍वयक एवं प्रेरक के कार्य एवं दायित्‍व विद्यालय प्रबन्‍ध समिति- विद्यालय प्रबन्‍ध समिति के कार्य एवं दायित्‍व परिषदीय पाठयक्रम- परिषदीय विद्यालयों का मासिक पाठयक्रम प्राइमरी प्रशिक्षु भर्ती - प्रशिक्षु भर्ती शासनादेश जूनियर भर्ती- जूनियर गणित/विज्ञान भर्ती का शासनादेश शिक्षामित्र - शिक्षामित्र समायोजन का शासनादेश प्रसूति/बाल्‍यकाल - प्रसूति एवं बाल्‍यकाल अवकाश सम्‍बन्‍धी शासनादेश अलाभित/दुर्बल प्रवेश सम्‍बन्‍धी - शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्‍तर्गत 25 प्रतिशत एडमिशन सम्‍बन्‍धी शासनादेश पति/पत्नी HRA शासनादेश - राजकीय सेवा में पति/ पत्नी दोनों के कार्यरत होने पर मकान किराया भत्ता आदेश अमान्य विद्यालय सम्बन्धी शासनादेश - अमान्य विद्यालय बंद करने एवं नवीन मान्यता शर्तो सम्बन्धी शासनादेश UPTET 2011 परीक्षा परिणाम - UPTET 2011 परीक्षा परिणाम का Verification करने के लिए

Friday, 19 September 2014

बीटीसी 2013 की खाली साढ़े दस हजार सीटें भरने की तैयारी -

इलाहाबाद -एक साल विलंब से ही सही शिक्षा विभाग अब बीटीसी 2013 की सीटें भरने के लिए गंभीर हुआ है। दो बार काउंसिलिंग होने के बाद भी प्रदेश भर में लगभग साढ़े दस हजार बीटीसी की सीटें खाली पड़ी हैं। इस बार ऐसी तैयारी की जा रही है कि तीसरी काउंसिलिंग में ही सारी सीटें फुल हो जाएं। राज्य शैक्षिक अनुसंधान प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) ने तीसरी काउंसिलिंग के लिए कट ऑफ जारी करने का जिम्मा एनआइसी के बजाय परीक्षा नियामक प्राधिकारी को सौंपा है। यदि सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो इसी महीने बीटीसी 2013 की खाली सीटों के लिए कट ऑफ जारी किया जाएगा। माना जा रहा है कि प्रति सीट पांच से सात दावेदारों का कट ऑफ जारी किए जाने की उम्मीद है। दरअसल इतनी बड़ी तादाद में सीटें जिला शिक्षा व प्रशिक्षण संस्थानों में नहीं खाली हैं, बल्कि निजी कॉलेजों में ही खाली सीटों की संख्या बहुतायत में है। प्रदेश में 71 जिला शिक्षा व प्रशिक्षण संस्थान हैं। वहां की लगभग सारी सीटें शुरुआत में ही फुल हो गई थीं। निजी कॉलेजों की खाली सीटों की संख्या उस समय और बढ़ गई जब प्रदेश सरकार ने मध्य सत्र में करीब 76 कॉलेजों को मान्यता प्रदान कर दी। बड़ी संख्या में सीटें खाली होने का कारण निजी कॉलेजों का शहर मुख्यालयों से दूर होना है जहां अधिकतर युवा दाखिला नहीं लेना चाहते हैं। इसके अलावा जारी हुई दोनों बार की कट ऑफ मेरिट भी ऊंची रही है। इससे भी कम संख्या में छात्र-छात्रएं काउंसिलिंग कराने पहुंचे। इस समय एससीईआरटी प्राथमिक स्कूलों की शिक्षक भर्ती में व्यस्त है। लिहाजा उसने परीक्षा नियामक प्राधिकारी इलाहाबाद को काउंसिलिंग के लिए कट ऑफ जारी करने की जिम्मेदारी सौंप दी है। **एनआइसी के बजाय परीक्षा नियामक प्राधिकारी जारी करेंगे कट ऑफ‘बीटीसी 2013 का कट ऑफ अगले हफ्ते जारी होने की उम्मीद है। ऐसा प्रयास है कि इस बार सारी सीटें हर हाल में भर जाएं, ताकि फिर काउंसिलिंग न करानी पड़े**-नीना श्रीवास्तव, सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी इलाहाबाद। 


No comments:

Post a Comment